बोस की बीवी की चाहत माँ बनने की

हैल्लो दोस्तों, कैसे antarvasna हो आप सब? आपकी चूत जो बहुत बार चुद चुकी है वह कैसी है? और मेरी प्यारी भाभियाँ और आंटियां, सिस्टर आपकी तो कुंवारी चूत के लिए हर कोई दिन रात तड़पता रहता है वह भी गुलाब के जैसे खिली होगी, मैं चाहता हूँ की इस कहानी को पढ़कर आप सभी अपनी चूत से अपना रस निकालकर योगदान करे और लड़के भी, दोस्तों मेरा नाम गौरव है और मेरी उम्र 27 साल है और मेरी अभी शादी नहीं हुई है दोस्तों मैं कामलीला डॉट कॉम का दीवाना हूँ जब तक मैं इसकी कोई कहानी ना पढू तब तक मुझे चैन नहीं आता है तो दोस्तों चलिये मैं आपको कहानी की तरफ लेकर चलता हूँ।

यह बात उस समय की है जब कंपनी में मेरी नई नई जॉब लगी थी और दूसरे शहर में मैं नया नया था वहां पर मैं किराए के एक मकान में रहता था इत्तेफ़ाक से दोस्तों वही पास में हमारे विभाग के एक अधिकारी का भी घर था वैसे वो अधिकारी मेरा नहीं लेकिन किसी और डिपार्टमेंट के थे लेकिन हम लोग एक ही बिल्डिंग में साथ में काम करते थे मैं आते जाते उनकी मेडम को देखा करता था। वो देखने में तो कुछ खास नहीं थी, फिर भी पता नहीं क्यूँ मेरी नज़र उसे ताकती रहती थी, क्यूंकी उनका फिगर ही कुछ ऐसा था देखने में तो 34-28-36 के भरे भरे से आम के जैसे चुचे थे, जिन्हे देखकर मेरा मन करता था की अभी जाकर सारा का सारा दूध निचोड़ के पी लूँ और वो गांड तो ऐसे मटका के चलती थी की मर्दों के लंड भी खड़े हो जाए। वो भी कभी कभी मुझे देखती थी हमारी नज़रे मिलती और मैं स्माइल दे देता था। ऐसा करते करते 5-6 महीने बीत चुके थे। गर्मी के दिनों की बात थी मेरी छुट्टी थी इसलिए ऑफीस नहीं गया था, मैं अपने कमरे के बाहर कुर्सी लगाकर बैठा हुआ था तभी मैंने उसकी आवाज़ सुनी वो मोबाइल पर किसी से बात कर रही थी। मैं उठकर के बाहर की और गया थोड़ी देर में मैं समझ गया की वो सर से ही बात कर रही थी बात पूरी होने पर उन्होंने मुझे देखा तो इशारे से बुलाया मैं जब उसके पास गया तो वो मुझे देखकर मुस्कुरा रही थी फिर उन्होंने मुझसे मेरा परिचय पूछा तो मैंने अपने बारे में और जॉब के बारे में बता दिया फिर वो मुझसे बोली, हमारे बारे में जानते हो? मैंने मना किया नहीं, उसने मुझे बताया की मेरे पति आपके ऑफीस में ही इंजिनियर है मैंने नाटक किया और डरने की एक्टिंग भी की लेकिन वो बिंदास थी और बोली, मेरा कूलर खराब हो गया है और पता नहीं रिपेयर वाला आज आएगा भी या नहीं और फिर वो हमारे डिपार्टमेंट को कोसने लगी। मैं बोला, मेडम मैं देख लूँ कूलर एक बार? वो बोली हाँ क्यूँ नहीं फिर मैंने कूलर को अन्दर से खोलकर देखा तो उसमें से एक वायर निकला हुआ था मैंने उस वायर को जोड़कर कूलर चालू किया तो चालू हो गया कूलर के चालू होते ही वो बड़ी खुश हुई।

READ  मौसी की लड़की ने लंड पकड़कर चोदना सिखाया

फिर उन्होंने मुझे बिठाया और चाय बनाने के लिए चली गई उसने सर को भी बोल दिया की कूलर ठीक हो गया है। जब हम चाय पी रहे थे तो मेडम मेरी और झुककर बैठी हुई थी जिसकी वजह से मुझे उसके बूब्स साफ दिखाई दे रहे थे उनको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया उस समय मैंने लोवर पहन रखा था जिसके कारण मेरा लंड खड़ा दिख रहा था मैंने छिपाने की बहुत कोशिश की लेकिन मेडम ने उसे भाँप लिया था उसने कहा, तुम मुझे क्यू देखते रहते हो? मैं बोला, ऐसा नहीं है मेडम, फिर वो मेरे पास आकर बैठी और बोली, मैं सब समझती हूँ और जानती हूँ की तुम्हारे मन में क्या चल रहा है। मैं चुप रहा वो आगे बोली, वैसे भी आपके सर इस काबिल नहीं है की मुझे पेट भरकर तन का सुख दे सके, क्यूंकी शादी के बाद एक दुर्घटना की वजह से उनकी सेक्स करने की पावर कम हो गई है इसके लिये मैं तरसती हूँ, क्या तुम मेरी यह इच्छा पूरी करोगे? मैं बोला, मेडम यह सच है की मैं आपको देखता हूँ लेकिन मैं आपके साथ ऐसा नहीं कर सकता। मगर उन्होंने फिर दोबारा अपनी चाहत को दोहराते हुए मेरे लंड को पकड़ लिया और उसे सहलाने लगी फिर मैंने भी उनकी व्यथा को समझते हुए अपने आपको उनके आगे सरेंडर कर दिया मैंने भी देर ना करते हुए उनके होंठो को अपने होंठो से लगा दिया और उनका रसपान करने लगा। वो भी मेरे लंड को लोवर के ऊपर से ही मसल रही थी और मैं उन्हें चूमते हुए उनके बूब्स को बड़ी बेदर्दी से एक एक करके मसल रहा था मेडम ने उस समय गाउन पहना था और मैंने उसके अन्दर हाथ डाल दिया क्यूंकि उन्होंने गर्मी के कारण अन्दर कुछ नहीं पहना हुआ था, तो मेरे हाथ में सीधे ही उनके बूब्स आ गये मेरे बूब्स का हाथ में आते ही वह तड़प उठी और मेरे लंड को लोवर से बाहर निकालकर उसे अपने रसीले होंठो के बीच में क़ैद करके उसे बड़े ही प्यार से लॉलिपोप की तरह चूसने लगी मैं तो जैसे हवा में उड़ने लगा। वो मेरे लंड को जिस तरह से चूस रही थी, मुझे लगा की वो कई दिनों से प्यासी ही थी फिर अंत में मेरे लंड ने उसके मुहँ में ही अपना वीर्य छोड़ दिया और मेडम बड़े ही प्यार से उसे घटक भी गई फिर उसने लंड को जुबान से चाट चाटकर के साफ कर दिया। अब मैंने उसका गाउन उतारा और देखा की अन्दर वो पूरी नंगी ही थी जिन बूब्स को मैं रोज देखने की तमन्ना रखता था आज वो मेरे सामने थे। मैंने बड़े ही प्यार से उनके एक निप्पल को अपने दांतो से काटा तो उनके मुहँ से एक सिसकी निकल पड़ी अब मैंने उनके बूब्स को दबाते मसलते हुए एक एक करके उनको चूसने लगा और वो अपने मुहँ से मादक सिसकारियाँ निकालने लगी, आहह… उईईइ… मर गई। दोस्तों जब मैं उनके बूब्स को मसलते हुए चूस रहा था तो वो अपने ही दांतो से अपने ही होंठो को काट रही थी और मेरे बालों में अपनी उंगलियाँ फेर रही थी। उनके मस्त बूब्स को चूसते हुए मैंने अपने एक हाथ को उनके बदन को सहलाते हुए उनकी चूत के ऊपर ले जाकर चूत के दाने को मसल दिया। ऐसा करते ही वो और भी मस्त हो गई और उसकी सिसकियां एकदम से बढ़ गई मेडम की चूत एकदम गीली होकर धीरे धीरे से पानी छोड़ रही थी और वो जल बिन मछली की तरह तड़प रही थी वो मुझे मस्ती में कह रही थी, मेरी जान इस चीज़ का मुझे बड़ी बेसब्री से इंतजार था, इस निगोडी चूत ने परेशान कर रखा था। फिर मैं धीरे से नीचे गया और उनकी चूत की पंखुड़ियो को अपने होंठो से चाटने और काटने लगा, वो तो जैसे पागल हो गई मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से चोदते हुए चाटने लगा और मेडम अपनी कमर उचकाते हुए अपनी चूत को मेरे ऊपर रग़ड रही थी। अब वो बोली, अब मेरे भोसड़े में अपना लंड डाल दो, अब मुझसे ज़रा भी नहीं रहा जा रहा है।

READ  दोस्त की बीवी को दोनों तरफ से चोदा

लेकिन मैं अपनी मस्ती में ही चूत चाटने में लगा हुआ था मेडम तो जैसे पागल हो रही थी अपनी मस्ती के नशे में चूर होकर वो मेरे बालो को नोंछते हुए चूत को मेरे मुहँ पर और भी ज़ोर ज़ोर से रगड़ने लगी उसकी स्थिति को समझते हुए फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत के मुहँ पर लगाया और एक धक्का लगाया मेडम की चूत इतनी गीली थी की गछछ की आवाज़ से मेरा लौड़ा चूत में घुस गया फिर धीरे से मैंने अपने लंड को बाहर खींचा और वापस उसे मेडम की चूत में धकेल दिया। अब मैं अपने लौड़े को उसकी चूत में अन्दर बाहर, अन्दर बाहर करके पेलने लगा और मेडम भी मेरे हर धक्के का जवाब अपनी कमर को उचकाते हुए दे रही थी मैं दोनों हाथों से उसकी कमर को पकड़कर चोद रहा था मेडम मस्ती के नशे में चूर होकर कह रही थी, चोद मेरे राजा, उईइ… हाययी, चोदो मेरे राजा, आज मेरी इस निगोडी चूत की खुजली को मिटा दो, मेरी चूत का भोसड़ा बना दो मेरे सैया, बहुत दिनों से इसने परेशान कर रखा था आज फाड़ से इसे अपने लंड के हथियार से आहह बहुत मज़ा आ रहा है, आहह… उईई….. हाय मेरी जान। हर एक धक्के पर गीली चूत होने के कारण फक फक की आवाज़ आ रही थी, जिसकी वजह से मैं भी पूरे जोश के साथ मेडम की चुदाई कर रहा था। दोस्तों यह सेक्स स्टोरी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

उसको चोदते हुए 7-8 मिनट हो गये थे अब मुझे भी लगने लगा था की मैं झड़ने वाला हूँ चुदाई करते हुए मैंने मेडम से कहा, मेरा पानी छुटने वाला है, तो अन्दर ही छोड़ो या बाहर? मेडम बोली, अन्दर ही छोड़ दो मेरी जान, मेरा कोई बच्चा नहीं है तेरे बीज से मैं माँ बन जाऊँगी मेरे राजा। फिर मैंने देर ना करते हुए अपने लंड को चूत से बाहर निकाला और मेडम के दोनों पैरों को उठाते हुए अपने कंधो के ऊपर रख दिया वापस अपने लंड को चूत में पेल दिया और ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत को चोदने लगा। जैसे ही मेडम ने कहा मेरा पानी छुटने वाला है उसी समय मेरा लंड भी जवाब देने वाला था तब मैंने मेडम के पैरों को पूरी तरह से उठाते हुए उनके पैरों के घुटनो को उन्ही के कंधो से मिला दिया मेरे ऐसा करने से मेडम की चूत तोड़ा और ऊपर हो गई और मैं ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत को चोदने लगा।

READ  गांव गयी थी शादी में वहाँ मामा के लड़का

करीब 8-10 धक्के लगाए थे की हम दोनों एक साथ ही झड़ गये मेरे लंड से निकला हुआ वीर्य की एक एक बूँद को मेडम की चूत की गहराई में उतार दिया और अन्दर ही समा भी गई, मेडम ने मुझे कसकर अपने बदन से चिपका लिया, हम दोनों ही पसीने से भीग चुके थे। जब हम नॉर्मल हुए तो मेडम ने मुझे धन्यवाद किया और मुझे बोली, मैं आजीवन तुम्हे नहीं भूलूंगी। उसके बाद हम साथ में नहाए और नहाते हुए चुदाई का एक बार और खेल खेला, नहाने के बाद मेडम ने मुझे बिठाया और अपने हाथ से खाना बनाया और मुझे प्यार से खिलाया भी। फिर अपने पर्स से मुझे पांच हजार रुपये देते हुए बोली, ये लो तुम्हारा इनाम और भी ज़रूरत पड़े तो माँग लेना मैंने पैसे लेने से इनकार कर दिया और मेडम से कहा, मैं चोदने के पैसे नहीं लेता मेडम क्यूंकी मज़ा तो मुझे भी आता है। आप पैसे रहने दो, कुछ ज़रूरत पड़ेगी तो आपसे कह दूंगा, फिर तो जब भी मौका मिलता था वो मुझे अपने घर पर बुलाकर चुदाई का खेल खेलती थी। 4 हफ़्तो में ही उसका प्रेग्नेन्सी टेस्ट पॉज़िटिव आया वो बहुत खुश थी और उसने मुझे उसी दिन बुलाकर मिठाई भी खिलाई आजकल वो प्रेग्नेंट है और मेरा लंड चूसकर के मज़े करती है मैं नहीं चाहता की चुदाई के कारण उसकी प्रेग्नेन्सी पर कोई असर पड़े।

धन्यवाद कामलीला डॉट कॉम के प्यारे पाठकों !!

Antarvasna Hindi Sex Stories © 2016