सेक्सी धोबन की गांड को अपने लंड से चोदा

हाय फ्रेंड्स, मैं antarvasna अर्जुन आज आपके लिए बहुत ही मजेदार सेक्स कहानी लेकर आया हूँ ये मेरी पहली सेक्स कहानी है। फ्रेंड्स मैंने आज तक बहुत सारी कहानियां पढ़ी है जिसमें मैंने सेक्स और लड़की के बारे में बहुत कुछ जान लिया है आज मैं आपको अपने साथ एक घटना को कामलीला डॉट कॉम के माध्यम से बताने जा रहा हूँ दोस्तों ये सब कुछ मेरे साथ हुआ है इसलिए मैं आपसे ये नहीं कहूँगा की ये कहानी सच्ची है या झूठी है, तो फिर मैं अब कहानी शुरू करता हूँ।

दोस्तों ये बात तब की है जब मैं एक कंपनी में जॉब करता था और कंपनी ने मुझे वहां पर रहने के लिए एक बहुत अच्छा फ्लेट दिया हुआ था अब मुझे वहां रहते हुए करीब 2 साल होने वाले थे पर ये सब बहुत पहले ही हो गया था मैं फ्लेट में अकेला रहता था इसलिए मेरे पास घर के कामो के लिए समय नहीं था मुझे कपड़े धोने नहीं आते थे इसलिए मैंने अपने लिए एक धोबन लगा रखी थी जो रोज़ मेरे कपड़े मेरे ही घर से आकर ले जाती थी शुरू शुरू में तो वो खुद ही आती थी पर कुछ दिनों बाद उसकी बेटी गाँव से आ गई थी तो अब वो सब घरो से कपड़े लेने के लिए आ आती थी। दोस्तों उसका नाम सुहानी था और सच में दोस्तों जैसा उसका नाम था वैसा ही उसका जिस्म था उसको देखकर मेरा लंड खड़ा होने लग जाता था बहुत ही कमाल की लड़की थी, उसका रंग एकदम गोरा और स्किन एकदम सॉफ्ट थी जब मैंने उसे पहली बार देखा था तभी से मैं उसका दीवाना हो गया था वो हर रोज मेरे घर सुबह ही आ जाती थी इसलिए वो ही मुझे सुबह डोर बेल बजाकर जगाती थी। मैं सुबह सुबह उसके दर्शन करता था तभी मैंने नोटीस किया वो मेरा अंडरवियर देखती है जिसमें मेरा लंड साफ साफ दिखता था तभी मेरे दिमाग में एक आइडिया आया मैं अब सुबह उसके आने से कुछ देर पहले अपना दरवाज़ा खोल देता था फिर मैं जान बुझकर अपना लंड खड़ा करके सिर्फ़ अंडरवीयर में सोने का नाटक करता था।

READ  सीमा को चोदकर उसकी गोद भरी

सुहानी अब मेरे घर रोज़ आती थी और अपने आप दरवाज़ा खोलकर के मुझे उठाकर मेरे कमरे से कपड़े लेकर चली जाती थी वो जब भी मेरे कमरे में मुझे ऐसे आधा नंगा सोते देखती तो 5-10 मिनट मेरे लंड को ही घुरती रहती थी अब मैं उसे कपड़े देते समय उसके बूब्स को भी हल्के से दबाने लग गया था पर वो मुझसे कुछ नहीं कहती थी और चुपचाप मुझे देखकर स्माइल कर देती थी मैं अब रात को उसको याद करता रहता था, और सोने से पहले मैं उसको सोचकर अब मूठ मारकर सोने लग गया था उसी रात मुझे एक आइडिया आया मैं रोज़ की तरह उसके आने से पहले उठ गया। फिर मैंने दरवाज़ा खोला और अपने बेड पर आकर लेट गया आज मैंने अपना खड़ा हुआ आधा लंड अंडरवीयर में से बाहर निकाल दिया था जो की पूरा साफ दिख रहा था, कुछ ही देर में सुहानी अंदर आई और जब उसने मेरा लंड देखा तो वो देखती ही रह गई कुछ देर के लिये तो वो वहां से चली गई, मैं ये सब देख रहा था मैं जल्दी से तैयार हुआ और अपने ऑफीस जाने लगा तभी मुझे उसने रास्ते में रोक लिया और मुझसे एकदम चिपककर मेरे लंड से अपनी चूत को टच करवा रही थी फिर सुहानी बोली क्या बात है आज कपड़े नहीं है क्या देने को? उसकी इस हरकत को मैं अच्छे से समझ चुका था इसलिए मैंने उसकी गांड पर अपना हाथ रखा और बोला कल आना फिर चाहे मुझे नंगा करके सारे कपड़े ले जाना, मेरी बात सुनकर वो हँस पड़ी और वापिस अपनी दुकान में चली गई मैं रात को घर वापिस आया पर मुझे नींद नहीं आ रही थी मैं बस ये ही सोच रहा था की कल सुबह क्या और कैसे होगा खैर मुझे रात को कब नींद आई मुझे पता तक नहीं चला सुबह जब मैं उठा तो सुहानी मेरे सामने बैठी थी सच में साली क्या लग रही थी मैं उसे देखते ही खड़ा हो गया फिर मैं सुहानी के पास बैठ गया, वो मुझसे चिपककर बैठ गई।

READ  सरिता की जवानी लूटी विदिशा में

मैंने उसकी जांघो पर हाथ रखा तभी उसने मेरा हाथ वहां से हटा दिया मैंने फिर अपना हाथ उसके कंधे पर रखा और टॉप से बाहर निकलते बूब्स पर मैं अपनी उंगलिया घूमाने लग गया सुहानी ने मुझे इस बार कुछ नहीं कहा अब मुझसे और इंतजार नहीं हो रहा था इसलिए मैंने उसके होंठो पर अपने होंठ रखे और उसे ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गया, किस करने में सुहानी मेरा पूरा साथ दे रही थी मैं उसके होंठो को चूस रहा था वो मेरे होंठो को ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी अब मेरे दोनों हाथ उसके बूब्स पर आ गये थे जिन्हे मैं ज़ोर ज़ोर से दबा रहा था अब मुझसे और नहीं रुका जा रहा था फिर मैंने अपने कपड़े उतार दिए और फिर धक्का देकर सुहानी को बेड पर लेटा दिया और मैं सुहानी के ऊपर आ गया और उसका टॉप उतार दिया सुहानी अब मेरे सामने लाल कलर की ब्रा में थी जिसे देखकर मैं पागल हो गया मैं उसके दोनों बूब्स पर पागलो की तरह टूट पड़ा और ज़ोर ज़ोर से उसके बूब्स को चूसने और काटने लग गया फिर मैं दोनों बूब्स को चूसने के बाद उसके पेट को चाटने लग गया जिससे सुहानी तड़पने लग गई और वो बोली साले जल्दी कर वरना मेरी रंडी माँ चिल्लाने लग जाएगी उसकी बात मुझे ठीक लगी इसलिए मैंने उसकी जींस को जल्दी से उतार दिया उसने नीचे पेंटी नहीं पहनी थी उसकी चूत पर बहुत सारे बाल ही बाल थे सच कहूँ मुझे उसकी चूत जरा भी पसंद नहीं आई फिर मैंने उसे घुमा दिया और अब मेरे सामने उसकी नंगी गांड थी जिसे देखकर मैं अब पागल हो रहा था उसकी गांड को मैंने खोला तो वो एकदम गुलाबी और चिकनी थी।

गांड देखने के बाद मेरे मुहँ में पानी आ गया और मैंने अपनी जीभ को उसकी गांड में डाल दिया सुहानी भी बड़े मज़े में मुझसे अपनी गांड चटवा रही थी मैं बोला साली अपनी चूत आगे से साफ करके आना तभी मैं तेरी चूत को मारूँगा आज तो तेरी गांड फाड़ुँगा, मैं करीब 5 मिनट तक गांड को चाटने के बाद मैंने उसके मुहँ में अपना लंड डाल दिया साली सुहानी पूरी रंडी थी, एक रंडी की तरह मेरे लंड को वो चूस रही थी उसके लंड चूसने का स्टाइल एक पॉर्न स्टार की तरह था जिसे देखकर मैं काफ़ी खुश हो गया था। अब मैंने उसके पेट के नीचे एक तकिया रखा और अपना लंड उसकी गांड पर सेट करके बहुत ज़ोर से धक्का मारा और उसकी गांड में मेरा लंड बड़े ही आराम से चला गया। मैं बोला साली तू एक नंबर की रंडी है बड़े आराम से गांड में लंड चला गया कितने लंड डलवाए है इसमें तुने, फिर सुहानी बोली साले फालतू मत बोल तेरा लंड मुझे और मेरी गांड तुझे पसंद है इसलिए बड़े आराम से ले रही हूँ देख मैंने अपनी गांड को पूरा ढीला छोड़ रखा है इसलिए मुझे गांड मरवाने में ज़्यादा दर्द नहीं हो रहा है। दोस्तों यह सेक्स स्टोरी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

READ  आशिक के लंड की प्यासी मेरी चूत

मैं :– ठीक है मुझे क्या, मुझे तो तेरी गांड को चोदना है बस।

सुहानी :– हाँ मेरे बाप जल्दी चोद वरना मेरी रंडी माँ आने वाली होगी।

मैं :– क्यों आयेगी वो यहाँ, उसको यहाँ ले आ उसको भी चोद दूँगा साली को।

ये कहकर मैं सुहानी को फुल स्पीड में चोदने लग गया कुछ देर में मेरे लंड ने अपना सारा पानी उसकी गांड में डाल दिया फिर जाते हुए उसने मेरे लंड को अच्छे से चाट चाटकर साफ कर दिया फिर उसने अपनी गांड में अपनी एक उंगली डाली और मेरे लंड का पानी उस पर लगाकर टेस्ट करने लग गई उसने अपने कपड़े पहने और कहा तेरा लंड और उसका पानी भी काफ़ी टेस्टी है कल चूत साफ करके आऊँगी लंड को चूत में डालने के लिए तैयार रहना, बस फिर क्या था अगले दिन मैंने उसकी चूत और गांड दोनों को चोदा फिर कुछ दिनों के बाद उसकी मम्मी ने हम दोनों को सेक्स करते हुए पकड़ लिया था अब मैं उसे और उसकी मम्मी दोनों को चोदता हूँ।

धन्यवाद कामलीला डॉट कॉम के प्यारे पाठकों !!

Antarvasna Hindi Sex Stories © 2016