दोस्त की पत्नी को चोदकर प्रेग्नेन्ट किया

हैल्लो दोस्तों, antarvasna मैं अंकित एक बार फिर से हाजिर हूँ अपनी नई कहानी सेक्स कहानी के साथ जिसमे मैं आपको बताऊंगा की मैंने कैसे अपने दोस्त के सामने ही उसकी पत्नी की चुदाई की और उसको प्रेग्नेन्ट किया तो दोस्तों मैं पहले अपने दोस्त की पत्नी के बारे में बता दूँ मेरे दोस्त की पत्नी का नाम कंचन है और वो एकदम सेक्सी है उसके बूब्स का साइज़ 36 उसकी, कमर 30 इंच और उसकी गांड 36 इंच की है जब वो अपनी गांड हिला हिलाकर चलती है तो वो मेरे दिल को घायल कर जाती है तो मैं अब आपको और ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा कहानी और आता हूँ।

मेरा एक दोस्त है जिसका नाम विनीत है और वो मेरे साथ मेरे ऑफीस में ही काम करता है उसकी शादी लगभग 2 साल पहले उसके घर वालो ने कंचन से करवाई थी और वो यहाँ पर अपनी पत्नी के साथ ही रहता है वैसे तो विनीत काफ़ी अच्छा है पर उसमें शराब पीने की बुरी आदत है और रोज शाम को उसको शराब पीनी होती है मेरा विनीत के घर पर काफ़ी आना जाना है और मैं कंचन को भाभी बोलकर बुलाता हूँ मेरे दिल में कंचन के लिए कोई गलत सोच नहीं थी। पर मैंने एक बात नोटीस जरुर की थी की मैं जब भी विनीत के घर जाता था तभी उसकी पत्नी कंचन मुझको दूसरी निगाहों से देखती है यू कहो तो चोर निगाहों से मुझको देखती है और थोड़ी गुमसुम रहती है। एक दिन सुबह को जब मैं विनीत के घर गया तो कंचन भाभी ने गेट खोला उस समय मैं कंचन भाभी को देखता ही रह गया उसने पिंक कलर का गाउन पहना था गाउन का गला बड़ा होने की वजह से उसकी रेड कलर की ब्रा एकदम साफ और उसके अंदर के मोटे मोटे बूब्स एकदम साफ दिख रहे थे और उसके बूब्स पर जो तिल था वो उसके बूब्स को और ज्यादा सेक्सी बना रहा था और नीचे से उसका गाउन एक साइड से खुला हुआ था तो उसकी जाँघ भी एकदम गोरी गोरी साफ दिख रही थी कुछ देर के लिए तो मैं जैसे उसको देखता ही रह गया। फिर खुद पर कंट्रोल करते हुए मैंने पूछा की विनीत कहाँ है तो कंचन बोली की आप बैठो वो नहा रहे है तब तक मैं आपके लिए चाय बनाकर लाती हूँ जब वो चाय बनाकर वापस आई तो उसके गाउन का गला और ज्यादा बड़ा था जिसमें से उसके आधे से ज्यादा बूब्स दिख रहे थे। जब वो मुझको चाय देने के लिए नीचे झुकी तो मुझको उसके बूब्स बिल्कुल साफ दिख रहे थे एक बार तो मुझको ऐसा लगा की वो मुझको अपने बूब्स ही दिखा रही हो इतने में विनीत आ गया तभी वो झट से सीधी खड़ी होकर अपने बूब्स को ठीक करने लगी। फिर थोड़ी देर के बाद विनीत और मैं अपने ऑफीस के लिए निकल गये लेकिन उस दिन मैं सिर्फ़ कंचन के बारे में ही सोचता रहा, और बार बार वो सीन याद कर करके मेरा लंड बार बार खड़ा हो रहा था। उस दिन शाम को घर आकर मैंने अपने लंड को मूठ मारकर शांत किया और उस दिन सोचा की क्यों ना कंचन की चूत के मज़े लिए जाए, ऐसा कई बार हुआ की मैं विनीत के घर गया और उसने अपना सेक्सी बदन मुझको दिखाना चाहा। मुझको ऐसा लगता की वो मुझसे कुछ कहना चाहती है पर बोल नहीं पा रही है एक दिन मैं विनीत के घर गया तो उसका गेट खुला हुआ था मैं बिना आवाज़ किए हुए अंदर चला गया विनीत उस समय सो रहा था फिर मुझको बाथरूम में से पानी की आवाज़ आई।

READ  कविता की रसभरी चूत को फैलाकर चोदा

तो मैं बाथरूम के होल से देखने लगा तो अंदर का सीन देखकर मैं चौक गया बाथरूम में कंचन नहा रही थी, उस समय उसके बदन पर एक भी कपड़ा नही था, उसके बूब्स एकदम सख़्त और उसके बूब्स के निप्पल पिंक कलर के थे और उसके पेट पर जो नाभि थी वो भी एकदम सेक्सी थी जब मैंने उसकी चूत को देखा तो मैं देखता ही रह गया उसकी बिना झांट वाली पिंक कलर की चूत बहुत ज्यादा सेक्सी लग रही थी मेरा लंड ये देखकर खड़ा हो गया और मैं वही पर मूठ मारने लगा और अपने लंड का पानी बाथरूम के गेट पर ही छोड़ दिया। जब वो अपने बदन पर साबुन लगा रही थी तो उसके चिकने बदन से साबुन बार बार फिसले जा रहा था कभी वो अपने बूब्स पर साबुन लगाती और अपने बूब्स को सहलाती, कभी अपनी चूत पर साबुन के झाग लगाती तो कभी अपनी गांड के बीच साबुन लगाती मैं लगातार उसको देखता रहा। तभी इतने में मेरे कंधे पर किसी ने हाथ रखा मैं एकदम से डर गया और मैंने देखा की मेरे पीछे विनीत खड़ा था, मैं तो पसीना पसीना हो गया लेकिन उसने कहा की अंकित यार डरो मत मुझको तुमसे कुछ बात करनी है उसने मुझको बताया की उसका लंड बहुत ही छोटा है और वो कंचन को संतुष्ट नहीं कर पाता है क्या तुम कंचन को संतुष्ट कर सकते हो? मैंने कहा की विनीत क्या पागलो वाली बात कर रहा है तो उसने बोला की तू अभी तो मेरी पत्नी को नहाते हुए देख रहा था, तो मेरे अंदर थोड़ी हिम्मत आई मैंने विनीत से पूछा की क्या कंचन मेरे साथ सेक्स करने को तैयार होगी, तो विनीत ने कहा की तू तोड़ा समय अगर उसको दे तो वो शायद तैयार हो जायेगी लेकिन विनीत ने कहा की मैं चाहता हूँ की तू मेरी पत्नी को मेरे सामने चोदे और उसको प्रेग्नेन्ट कर दे क्योंकी मैं उसको प्रेग्नेन्ट नहीं कर सकता हूँ यार।

मैंने कहा की ठीक है मैं ये काम करूँगा और फिर मैं विनीत के घर और ज्यादा आने जाने लगा एक दिन विनीत ने कुछ ज्यादा ही शराब पी ली और वो खुद को कंट्रोल नहीं कर पा रहा था। तो मैं उसको उसके घर ले गया कंचन ने गेट खोला उस समय उसने रेड कलर की साड़ी पहन रखी थी जिसमें वो बहुत ज्यादा सेक्सी लग रही थी मैंने विनीत को बेड पर लेटाया और मैं बाहर सोफे पर आकर बैठ गया और मुझको लगा की कोई रो रहा है मैंने पीछे मूडकर देखा तो कंचन भाभी रो रही थी मैंने हिम्मत करके उसके गाल के आँसू पूछे तो वो मुझसे लिपट गई उसके बदन का स्पर्श पाकर मेरा लंड एकदम टाइट हो गया मैंने उससे पूछा की तुम क्यों रो रही हो। तो वो बोली की विनीत रोज शराब पिकर आ जाते है और आज तक उन्होंने मुझको प्यार करने के लिए हाथ तक नहीं लगाया है मेरी भी कुछ इच्छा है लेकिन मैं खुद को कैसे कंट्रोल करूँ, उसके मुहँ से इतना सुनकर मैंने उसको और कसकर गले से लगा लिया और उसके बूब्स मेरे सिने से दबाने लगा विनीत अभी भी शराब के नशे में था अब मैंने उसके गाल पर आए सारे आँसू को पी लिया तो वो और भी ज्यादा उत्तेजित हो गई और लंबी लंबी साँसे लेने लगी और मुझको कसकर के किस करने लगी मैंने कहा की जब मैं तुम्हारे साथ सेक्स करू तब मैं वीडियो बनाना चाहता हूँ वो बोली ठीक है मैंने अपना मोबाइल उसके बेडरूम में लगा दिया जिसमें विनीत लेटा था अब मैं कंचन के होंठों पर किस करने लगा और अपने एक हाथ से उसके बूब्स को दबाने लगा।

READ  जवान लड़के से बीवी की चुदाई

वो अब चुदने को बेचैन हो रही थी मैंने उसकी साड़ी ऊपर की और उसकी पिंक कलर की पेंटी को नीचे किया और उसकी चूत को अपने मुहँ में भरकर चाटने लगा वो अब मदहोश होने लगी वो मेरे बालो को ज़ोर ज़ोर से सहलाने लगी और अपने मुहँ से आहह… मुआहह… उहह… जैसे सेक्सी आवाज़े निकालने लगी थोड़ी देर में उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया जिसको मैंने पूरा पी लिया अब मैंने उसको सोफे पर बैठाया और अपना लंड उसके मुहँ में देना चाहा, पहले तो वो मेरा लंड देखकर डर गई और बोली की मैंने इतना लंबा लंड पहली बार देखा है तो मैंने कहा जानेमन अब इसका टेस्ट भी कर लो, तो उसने मेरे लंड का टोपा अपने मुहँ में ले लिया मैंने एक झटका मारा और मेरा लंड उसके मुहँ में पूरा समा गया मेरा लंड लंबा होने की वजह से उसकी आँखे बाहर आ गयी और वो मेरे लंड को चूसने लगी। मैं भी अपने लंड से उसके मुहँ को चोदने लगा और उसको गाली देने लगा जिससे वो और ज्यादा उत्तेजित हो रही थी मैंने अपने लंड का पानी उसके मुहँ में ही निकाल दिया जिसको वो पी गयी फिर मैंने कहा क्यों कंचन कैसा लगा मेरे लंड का पानी तो वो बोली की बहुत अच्छा है वो फिर से रोने लगी और बोली की प्लीज मुझको प्रेग्नेन्ट कर दो, फिर मैंने कहा की तू रो मत आज तेरी यह इच्छा मैं पूरी करूँगा मेरे मुहँ से इतना सुनकर वो मुझसे लिपट गयी। थोड़ी देर में मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया अब मैंने सबसे पहले उसकी साड़ी उतारी फिर धीरे धीरे उसके ब्लाउज के हुक खोले अब वो भी फिर से उत्तेजित होने लगी अब मैंने उसका पेटीकोट खोल दिया। अब वो मेरे सामने सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी अब उसने मेरी टी-शर्ट उतारी फिर मेरी पेंट खोली अब मैं सिर्फ़ अंडरवियर में था। मैं उसको पागलो की तरह किस करने लगा और उससे बोला की जानेमन मैं कबसे तुझको चोदना चाहता था तो वो बोली मैं भी कबसे तुमसे अपनी चूत की चुदाई करवाना चाहती थी अब मैं बेड पर लेट गया और उसको बोला की वो मेरे लंड पर बैठे वो धीरे धीरे करके मेरे लंड के टोपे को अपनी चूत में लेकर बैठने लगी, थोड़ा सा लंड अन्दर गया ही था की उसने इशारा करके बोला नहीं जा रहा है पूरा अंदर फिर मैंने कहा की तुमने कभी चुदाई नहीं करवाई क्या, तो वो बोली की शादी से पहले सिर्फ़ दो बार मैंने चुदाई करवाई है। शादी के बाद मैं एक भी बार नहीं चुदी हूँ, मैंने कहा अब चुदने के लिए परेशान नहीं होना। दोस्तों यह कहानी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

READ  मौसी की लड़की को रगड़कर चोदा

फिर मैंने उसकी ब्रा खोली और उसको सीधा लेटाया और उसके शरीर पर किस करने लगा उसके शरीर पर कहिं भी बाल नहीं थे एकदम चिकनी बॉडी थी जब वो बिल्कुल गर्म हो गयी तो मैंने उसकी दोनों टाँगे खोली और अपने लंड का सूपड़ा उसकी चूत पर रखा और एक धक्का मारा मेरा लंड तोड़ा सा उसकी चूत में घुस गया जिससे उसके मुहँ से चीख निकल पड़ी मैं थोड़ी देर के लिए ऐसे ही लंड डाले रुक गया और उसके होंठों पर किस करने लगा और फिर बूब्स को दबाने लगा जब उसका दर्द कम हुआ तभी एक और ज़ोरदार धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समा गया अब मैं उसको चोदने लगा वो मुझसे बोलने लगी जान आज मेरी चूत को फाड़ दो मेरी चूत की प्यास को मिटा दो मुझको आज अपनी रंडी बना लो, दोस्तों उस समय विनीत तोड़ा होश में था और ये सब देख रहा था, मैं भी कंचन की चूत पर कसकर अपने लंड से चोट मार रहा था उसकी चुदाई की आवाज़ से पूरा कमरा गूंज रहा था।

फिर करीब तीस मिनट बाद मैंने अपने लंड का माल उसकी चूत में ही छोड़ दिया और तब तक वो तीन बार अपनी चूत से पानी छोड़ चुकी थी उस रात में मैंने उसको पांच बार चोदा था और उसकी चूत का भोसड़ा बना दिया अगले दिन विनीत ने मुझको धन्यवाद बोला की तुमने मेरे सामने मेरी पत्नी को अच्छे से चोदा है। अब मैं रोज़ उसके घर पर जाने लगा हूँ तो उसे चोदकर जरुर आता हूँ करीब 1 हफ्ते तक चुदाई करने के बाद कंचन का फोन आया की वो मेरे बच्चे की माँ बनने वाली है और अभी उसके पास एक चार महीने का एक बेटा है अब जब भी उसका चुदने का मन होता है वो पूरी रात के लिए मुझसे चुदवाती है।

धन्यवाद कामलीला डॉट कॉम के प्यारे पाठकों !!

Antarvasna Hindi Sex Stories © 2016