बीवी प्रेग्नेंट थी तो सास को चोदा

हैल्लो दोस्तों, मेरा antarvasna नाम शेरा है और मैं भी आप सभी की तरह कामलीला डॉट कॉम की कहानियों के लिए पागल हूँ। मुझे सेक्सी कहानियों को पढ़कर बड़ा मस्त मज़ा आता है और मैं अब तक ना जाने कितनी कहानियों को पढ़कर मज़े ले चुका हूँ। दोस्तों यह मेरी पहली सच्ची सेक्स स्टोरी है बात तब की है जब मेरी शादी को 2 साल हो गये थे, उस समय मेरी उम्र 27 की थी और मेरी पत्नी की उम्र 25 साल थी और मेरी पत्नी उस समय प्रेग्नेंट थी तो उन दिनों मैंने अपने लंड की प्यास को मेरी सासु माँ की चूत को चोदकर बुझाया था अब कैसे बुझाया था यह सब आप खुद ही पढ़कर मज़े ले।

मेरे ससुराल में मेरी सास जिनकी उम्र 40 साल के आसपास होगी, ससुर जी जिनकी उम्र 43 साल और मेरी कोई साली नहीं है, जिसका मुझे बहुत अफ़सोस होता है मेरी सास बहुत सुंदर है जो भी उनको एक बार देखता है तो देखता ही रह जाता है उनका फिगर 38-28-36 है। उनमे एक अजीब सा आकर्षण था जो मर्दो को अपनी तरफ खींचता है इस उम्र में भी वो जवान लड़कियां को मात देती है। उनका भरा पूरा जिस्म किसी भी मर्द की नियत को खराब करने के लिये काफ़ी है मैंने कभी भी उनको ग़लत नजरो से नहीं देखा था लेकिन उस दिन जो हुआ वो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था। अब उस घटना पर आते है, शादी के 2 साल बाद मेरी बीवी प्रेग्नेंट हो गयी तो उसने अपनी मम्मी को काम काज़ में मदद के लिए हमारे घर पर बुला लिया। हमारे घर में मैं और मेरी पत्नी ही रहते है, मेरे मम्मी पापा गाँव में रहते है मेरी बीवी को सातवा महीना लगा था, डॉक्टर ने सेक्स करने को मना किया हुआ था। दोस्तों हम रोज़ ही फुददी चुदाई यानी सेक्स का जमकर आनन्द लेते थे मेरी बीवी बहुत ज़्यादा सेक्सी है ऐसा कोई भी दिन नहीं निकलता जब हम दोनों सेक्स ना करते हो मुझे तो दोस्तों रोज़ चूत चाहिये जब तक मुझे चूत चोदने को ना मिले तब तक मेरा दिमाग काम नहीं करता और यह बात उसे भी पता है की अगर वो मुझे ज़्यादा दिन तक उसकी चुदाई ना करने दे तो मैं बाहर फुददी चुदाई कर सकता हूँ। यह बात मेरी बीवी अपनी मम्मी को बता चुकी थी कई बार मैंने उनकी यह बाते चुपके से सुनी थी। मेरी सास कहती की सब मर्दो को फुददी चोदने की आदत होती है इसलिए उनकी यह माँग हमेशा पूरी होनी चाहिए मर्द इस चीज़ से सबसे ज़्यादा खुश रहता है। मेरी सास हमेशा मेरा ख़याल रखती और समय से सब काम करती थी मुझे सेक्स किए हुए काफ़ी समय हो गया था और रात को मुझे सेक्स करने का बहुत मन होता था, लेकिन हम दोनों मज़बूर थे इसलिए मैं अलग कमरे में सोता था, कही रात को बीवी के साथ ग़लत काम ना हो जाए।

READ  बहन के साथ कामुक हरकत

मेरी बीवी को मेरे सेक्स की ज़रूरत का पता था इसलिए वो डरती थी की मैं कही बाहर फुददी ना मार लूँ, उसने अपने मन की बात अपनी मम्मी को बताई तो मम्मी ने कहा मेरा दामाद ऐसा नहीं है। एक रात को हम टी.वी. पर कॉमेडी सर्कस देख रहे थे, उस सेक्सी जोक्स पर मेरी सास कुछ ज़्यादा ही हँस रही थी मुझे यह देखकर बहुत अच्छा लगा मेरी पत्नी को जल्दी सोने की आदत पड़ गयी थी तो वो बीच में ही उठकर सोने चली गयी अब मैं और मेरी सास अकेले रज़ाई में बैठे थे। मेरी बीवी के जाने के बाद सास तोड़ा सा मेरे पास आ गयी, और मेरे पैरों को उनके पैरों से टच करनी लगी, मुझे बहुत अच्छा लगा फिर मैंने भी धीरे धीरे मेरे पैरों को उनके पैरों से टच करना शुरू किया फिर मैंने कोई इंग्लीश मूवी वाला चैनल लगा दिया, उसमें कोई चूमा चाटी वाली सीन चल रहा था मेरा मन सेक्स की तरफ घूम गया, मेरे साथ मेरी सास बैठ थी यह मैं भूल गया था इस बीच सास ने लाइट बंद कर दी थी और वो मेरे और करीब आ गयी थी, मैं भी उनके साथ चिपक गया कुछ देर तक मैंने कुछ नहीं किया थोड़ी देर बाद सास ने फिल्म देखते हुए अपनी एक टाँग मेरी टाँग के उपर रख दी, मैंने अपना हाथ उनकी जाँघ के ऊपर रख दिया, फिर मैंने धीरे धीरे हाथ फेरना शुरू कर दिया उन्होंने मेरा हाथ रोक दिया।

मैंने थोड़ी देर बाद फिर हाथ चलाना शुरू कर दिया अब मैंने उनकी सलवार का नाडा खोल दिया और धीरे-धीरे डरते हुए हाथ नीचे की तरफ रख दिया और आगे की सोचने लगा की सास है तो क्या हुआ, है तो एक औरत ही, जो मुझे चुदाई का पूरा मज़ा दे सकती है। थोड़ी देर तक सास की तरफ से कोई विरोध ना होते देख मेरी हिम्मत और बढ़ गयी और मैं और नीचे हाथ ले गया और मेरा हाथ उनकी चूत से निकले पानी से गीला हो गया, मैं समझ गया की सास भी गरम हो चुकी है। मैंने उनके साथ फुददी चुदाई करने का मन बना लिया, मैंने अपना दूसरा हाथ उनकी ब्रा में डाल दिया और उनके मोटे-मोटे बूब्स को दबाने लगा मेरी सास ने आँखे बंद कर ली और मज़े लेने लगी अब मैंने धीरे धीरे उनके सारे कपड़े उतार दिए उफ्फ… क्या बला की खूबसूरत लग रही थी वो नंगे बदन में, मैं भी पूरा नंगा हो गया और उनके ऊपर चढ़ गया मैंने उनके होंठ चूसने शुरू कर दिए और अपना लंड उनकी फुददी के ऊपर घिसने लगा, मेरी सास भी मेरा साथ देने लगी उन्होंने मुझे कसकर पकड़ लिया, जगह जगह किस करने लगी अब मैं उनके बूब्स को चूसने लगा, उनके मुहँ से सिसकियाँ निकल रही थी। उसके बाद मैं उनके पेट से होता हुआ उनकी फुददी के पास आ गया और उनके जिस्म को चाटने लगा मेरी सास मेरा सिर अपनी फुददी के ऊपर ले गयी और जोर से दबाने लगी मैं समझ गया की क्या करना है, मैंने उनकी फुददी के ऊपर दाने को चाटना शुरू कर दिया अब तो मेरी सास की हालत और खराब हो गयी, वो ज़ोर ज़ोर से अया… उफ़फ्… उईई… करने लगी मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी, एक दो उंगली भी उनकी फुददी के अंदर बाहर करने लगा जिससे उनको बहुत मज़ा आ रहा था। अब उन्होंने मुझे अपने नीचे लिटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गयी और मुझे मज़ा देने लगी, मेरे सारे जिस्म को चूसते चाटते हुए मेरे लंड को मुहँ में लेकर चूसने लग गयी, वो लंड चूसने में इतनी माहिर है की उनका एक भी दाँत मेरे लंड को नहीं चुबा उन्होंने मेरा लंड चूस चूसकर मुझे पागल कर दिया, अब मेरा वीर्य छुटने वाला था तो मैंने उनको हटाया पर वो ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी, मेरा अब तोड़ा सा पानी छुट गया और उनके मुहँ में चला गया।

READ  साली के बाद सासू माँ को चोदा

उन्होंने झट से थूक दिया और कहा की दामाद जी उबकीयां आ रही है बहुत ज़्यादा लिसलिसा है अब मैंने कहा अब असली काम करते है तो वो बोली आप मेरे ऊपर आ जाओ, मैं नीचे से चुदना चाहती हूँ अब मैं उनके ऊपर चढ़ गया और फिर उनको गरम करने लगा तो वो फिर से आग की तरह गरम हो गयी और मैंने अपना 6 इंच का लंड उनकी चूत के छोले के ऊपर रगड़ना शुरू कर दिया और तब तक रगड़ता रहा जब तक उन्होंने खुद नहीं कहा की जल्दी से मेरी फुददी के अंदर लंड डाल दो। फिर उन्होंने कहा दामाद जी अपना लंड तो डालो मेरी चूत में, उनके कहते ही मैंने अपना लंड उनकी चूत में डाल दिया और जोर जोर से उनकी चूत की चुदाई करने लगा और बीच बीच में मैं उनके बूब्स और होठों को चूसता रहा और फिर मैं उनको 20 मिनट तक चोदता रहा और वो भी मज़े लेकर चुद रही थी उनका दो बार पानी निकल चुका था जब हम चुदाई करके अलग हुए तो मैंने कहा यह ग़लत काम हो गया। दोस्तों यह सेक्स स्टोरी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

तो वो बोली मेरी बेटी को लगता था की आप बाहर किसी की फुददी मारकर आओगे, इसलिए मेरा भी मन डोल गया और मैंने भी बहुत दिनों से आपके ससुर के साथ सेक्स नहीं किया था तो मेरा भी मन फुददी चुदवाने को हो गया था, मैं भी कामुक औरत हूँ और हम 2-3 दिन छोड़ के चुदाई करते है जब तक मैं यहाँ हूँ आप मेरे साथ मज़े कर सकते हो, लेकिन मेरी बेटी को पता ना चले उसके बाद मैं आपको कभी अपनी फुददी नहीं दूँगी, मैं मान गया और हमने खूब मज़े किए जब तक मेरा बेटा नहीं हो गया, उसके बाद मेरी सास अपने घर चली गयी मेरी पत्नी बोली तुमने इतने दिन कैसे कंट्रोल किया? मैं बोला मैं तुम्हारे प्यार में इतना पागल हूँ इसलिये बाहर ना जाकर मैंने मुठ मारकर अपने लंड को शांत कर लिया था उसके बाद भी मैंने ससुराल में जाकर सास को कई बार ट्राइ किया क्यूंकी मेरी सास है ही इतनी सेक्सी की बार बार उसको चोदने का मन करता है लेकिन उन्होंने कहा जो हुआ, मज़बूरी में हुआ, उसे बुरा सपना समझकर भूल जाओ, इसमें ही हम दोनों की भलाई है और मैंने फिर कभी उनके साथ ग़लत बात नहीं की और हम सब पहले की तरह रहते है।

READ  मंजू मामी के साथ शादी और सुहागरात

धन्यवाद कामलीला डॉट कॉम के प्यारे पाठकों !!

Antarvasna Hindi Sex Stories © 2016