बीवी के साथ उसके पति की गांड मारी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम यश है और में गुजरात के अमरेली शहर से हूँ। मेरी उम्र 26 साल है और मेरे लंड का आकार 6 इंच है। दोस्तों आज में आप सभी जो कहानी सुनाने जा रहा हूँ वो मेरी और हमारे पड़ोस में रहने वाले जोड़े की है, जिसको मैंने आप सभी कामुकता डॉट कॉम के पढ़ने वालों के लिए इतनी मेहनत से लिखकर आप तक पहुंचाया जो मेरे जीवन का एक सच है जिसको आज में बताने जा रहा हूँ और यह बात आज से करीब दो महीने पहले की है जब हमारे पड़ोस में एक नया जोड़ा रहने के लिए आया था। उन दोनों का नाम राज और नेहा था। राज करीब 45 साल का होगा और नेहा 40 साल की थी, लेकिन वो बहुत ही सुंदर लगती थी। उसके बूब्स बहुत बड़े बड़े थे और वो हमेशा नाभि के नीचे ही अपनी साड़ी को पहनती थी, जिससे उसकी गहरी गोल और गोरी नाभि को देखकर मेरा लंड तुरंत खड़ा हो जाता था। दोस्तों में हमेशा उसके बाहर निकलने का इंतजर करता रहता था और जैसे ही वो बाहर निकलती में उसकी नाभि के और बड़े आकार के बूब्स दर्शन करके अपने लंड को सहलाता जब वो मुझे झाड़ू लगती हुई नजर आती तब में उसके बूब्स को घूर घूरकर देखता और उनको छूने की उम्मीद किया करता में कैसे भी उनकी अब चुदाई करना चाहता था और में उस मौके की तलाश में था। फिर करीब एक सप्ताह के बाद नेहा एक दिन मेरे घर पर आई उस समय में बरमूडा पहनकर कसरत कर रहा था, तो वो मेरी उभरी हुई सुंदर छाती की तरफ देखती ही रह गयी और फिर में भी उसके बूब्स को देखने लगा और अचानक फिर हमारी नज़र एक दूसरे से टकराई और फिर वो शरमा गयी और अब बो मुझसे पूछने लगी कि आपकी मम्मी कहाँ है? तब मैंने उसको बताया कि मेरी मम्मी किचन में है और वो मेरा जवाब सुनकर मेरी तरफ मुस्कुराकर सीधा किचन में मेरी मम्मी के पास चली गई। उनसे वो कुछ बात करके कुछ देर रुककर अपने घर चली गयी।

फिर मम्मी ने मुझसे कुछ देर बाद कहा कि नेहा के पति राज को कंप्यूटर का कुछ काम है, इसलिए वो मुझसे तुम्हारे वहां पर जाने के बारे में बात करने आई थी और मैंने उसको तुम्हारी तरफ से हाँ कह दिया है और अब आज रात को तुम्हे वहां पर जाकर उसके पति की उस समस्या को हल करना है, क्या तुम्हे इस बारे में अपनी तरफ से कुछ कहना है? तो मैंने अपनी मम्मी से कहा कि नहीं जब आपने मेरे वहां पर जाने के लिए हाँ कह दिया है तो में चला जाऊंगा और मुझे उसमे कोई भी आपत्ति नहीं है। दोस्तों सच कहूँ तो में अपनी माँ के उस निर्णय से बहुत खुश था, क्योंकि में खुद भी अपनी पड़ोसन के घर जाने का कोई ना कोई मौका या उससे मिलने देखने के लिए हमेशा उत्सुक रहता था और आज में उसके घर पर जाने वाला था, इसलिए में तो रात होने का बड़ी बेसब्री से इंतज़ार करने लगा और करीब 9 बजे में उसके घर पर गया और मैंने दरवाजे पर लगी घंटी को बजाया और अपनी किस्मत का वो दरवाजे खुलने का बड़ी बेसब्री से इंतजार करने लगा, तो कुछ देर बाहर खड़े रहने के बाद नेहा ने ही दरवाजा खोला। फिर मैंने देखा कि उसने एक बिना बाँह की मेक्सी पहनी हुई थी, वो उसमे क्या मस्त सेक्सी दिख रही थी? उस मेक्सी में उसके बड़े बड़े बूब्स का वो गोलमटोल आकार मुझे एकदम साफ साफ दिख रहा था और वो सेक्सी नजारा देखकर मेरा लंड तो तुरंत तनकर खड़ा हो गया। फिर उसके पति ने मुझे दरवाजे पर खड़ा देख लिया और वो कहने लगा अरे तुम बाहर क्यों खड़े हो? अंदर आ जाओ और फिर में उसके साथ साथ अंदर चला गया। फिर उसने मुझसे कहा कि आज मेरे ऑफिस में बहुत सारा कंप्यूटर का काम है इसलिए मैंने तुम्हे यहाँ पर मेरे पास बुलाया तुम्हे आज मेरी कुछ मदद करनी होगी और फिर मैंने उनसे कहा कि आज में यहाँ पर कुछ काम के लिए ही आया हूँ आप मुझे बताए कि मुझे क्या करना है और फिर उन्होंने मुझे काम बताया और हम दोनों कंप्यूटर पर डाटा एंट्री करने लगे। फिर करीब रात के 12 बजे तक हमारा वो काम खत्म हुआ तब तक भी नेहा हमारे साथ ही बैठी हुई थी। फिर उसने हमारे लिए चाय बनाई और हम तीनों ने साथ में बैठकर चाय पी और उसके मज़े लिए। फिर चाय पीने के कुछ देर बाद राज ने बातों ही बातों में मुझसे पूछा क्या तुम इंटरनेट पर बैठते हो? तो मैंने कहा कि हाँ, लेकिन कभी कभी और अब उसने मुझसे पूछा क्या तुम इंटरनेट पर पॉर्न वेबसाइट भी देखते हो? तो में उनके मुहं से यह बात सुनकर ज़ोर ज़ोर से हंसने लगा। फिर उसने मुझसे कहा कि इसमे शरमाने की ऐसी कोई बात नहीं यह काम दुनियाभर में हर एक लड़का लड़की करते है। यह हम सभी की एक जरूरत है, जिसको हमे देखकर या सेक्स करके पूरा करना पढ़ता है और यह बात कहकर उसने सेक्सी फिल्म की एक साइट खोली और वो सेक्सी फिल्म देखने लगे और में भी अपना काम छोड़कर अब उनके साथ बैठकर वो सब देखने लगा और अब मेरा लंड उसको देखकर धीरे अपना आकार बदलकर टाईट हो गया और नेहा उस समय दूसरे रूम में अपना कुछ काम कर रही थी। अब राज और में बारी बारी से फिल्म देख रहे थे और मेरा लंड तो अब पूरा तनकर 6 इंच का हो गया था और पेंट में से पूरा लंड साफ साफ दिखाई दे रहा था। तभी राज की नज़र मेरे खड़े लंड पर गयी और उसने मुझसे कहा कि यार तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है यह बात कहकर वो मेरे लंड पर पेंट के ऊपर से हाथ फेरकर उसको महसूस करने लगा, मुझे तो बहुत अच्छा लग रहा था, इसलिए में मज़े लेता रहा। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

READ  पति के सामने बीवी की घमासान चुदाई

फिर कुछ देर हाथ फेरने के बाद अब राज ने मेरी पेंट की चेन को खोल दिया और अब उसने मेरे लंड को पेंट के बाहर निकल दिया और बोला यार तेरा लंड तो बहुत अच्छा है, यह बात कहकर उसने मेरा पूरी पेंट को भी उतार दिया और अपनी पेंट को भी उतार दिया। मैंने देखा कि उसका लंड भी अब खड़ा हो गया था और उसका लंड करीब पांच इंच का होगा। फिर उसने मेरी शर्ट को उतार दिया और मुझे पूरा नंगा कर दिया उसके बाद उसने अपनी शर्ट को भी उतार दिया और अब वो भी पूरा नंगा हो गया। अब उसने मेरे लंड को अपने एक हाथ में ले लिया और वो उस पर अपनी जीभ को फेरने लगा और फिर उसने देखते ही देखते मेरे लंड का टोपा अपने मुहं में डाल लिया। मुझे तो बहुत अच्छा लग रहा था और मेरे मुहं से आवाज़ भी निकल रही थी।

फिर तभी नेहा भी अपना काम खत्म करके अंदर आ गयी और वो भी मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर चूसने लगी। अब मुझसे तो रहा नहीं जा रहा था, क्योंकि में बहुत जोश में आ चुका था, लेकिन फिर भी में कुछ देर और उनके साथ मज़े लेता रहा और वो दोनों भी मेरे साथ बहुत खुश नजर आ रहे थे। नेहा मेरे लंड को लगातार अपने मुहं में अंदर बाहर करके किसी अनुभवी रंडी की तरह मेरा लंड चूस रही थी और बहुत मज़े कर रही थी तभी राज ने मेरा मुहं उसके एक बूब्स पर रख दिया और में अब राज की छाती को किसी लड़की की निप्पल समझकर चूसने लगा। फिर तब मैंने महसूस किया कि उसके बूब्स बिल्कुल लड़कियों जैसे मुलायम थे और अब मेरे ज़ोर से चूसने की वजह से उसके मुहं से भी आह्ह्ह्हह्ह उफ्फ्फफ्फ्फ़ की आवाज़ आ रही थी और वो मुझसे कह रहा था उह्ह्ह्हह्ह हाँ और ज़ोर से चूस खींचकर चूस। तभी नेहा ने मेरा लंड अपने मुहं से बाहर निकालकर कहा कि यार तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा और मजेदार भी है। इतना कहकर उसने दोबारा मेरा गुलाबी रंग का टोपा अपने मुहं में ले लिया और वो उसको चूसने लगी। फिर मैंने राज के पूरे बदन पर किस किया और छूकर महसूस किया कि उसके होंठ भी लड़कियों जैसे मुलायम और बहुत गुलाबी थे और मैंने उसके होंठ अपने मुहं में ले लिए और किस करने लगा और चूसने लगा। फिर उसकी छाती पर भी चूमने लगा था और मैंने देखा कि उसकी छाती पर बिल्कुल भी बाल नहीं थे। फिर उसने मुझसे कहा कि वाह यार मुझे बहुत मज़ा आ रहा है तुम ऐसे ही मेरे पूरे बदन को चूसो। फिर मैंने उसके कहने पर और उसकी जांघो पर सभी जगह पर किस किया। अब नेहा पलंग पर लेट गयी और राज उसके ऊपर अपना लंड नेहा की चूत में डालकर उसके ऊपर लेट गया और उसने मेरा लंड अपने एक हाथ से पकड़कर उसकी गांड पर सेट करके रख लिया और अब मैंने उसका इशारा समझकर में अपना पूरा ज़ोर लगाकर उसकी गांड में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगा, लेकिन मेरा लंड अंदर नहीं जा रहा था जिसकी वजह से राज के साथ साथ मुझे भी बहुत दर्द हो रहा था। फिर मैंने अपने लंड पर थोड़ा सा तेल लगा लिया जिसकी वजह से वो चिकना हो गया और मैंने थोड़ा सा तेल उसकी गांड पर भी लगा दिया, जिसके बाद मैंने अपने लंड को राज की गांड के मुहं पर रखकर एक ज़ोर से धक्का दे दिया, जिसकी वजह से मेरे लंड का टोपा उसकी गांड के अंदर चला गया उसके बाद मैंने दूसरा धक्का दिया तो मेरा पूरा लंड राज की गांड में घुस गया और दर्द की वजह से राज के मुहं से आवाज़ निकल गयी अहह्ह्ह्हह ऊफ्फ्फ्फ़ धीरे करो।

READ  गर्लफ्रेंड की चूत को बरसात में चोदा

फिर में धीरे धीरे धक्के देने लगा और वो अब मुझसे बोल रहा था कि हाँ तुम पूरा लंड इसके अंदर डाल दो आज तुम मेरी गांड को फाड़ दो मुझे बहुत मज़ा आ रहा है और ज़ोर से धक्के देकर चुदाई कर मेरे राजा मेरी और तेज गांड मार। फिर वो कुछ देर बाद डॉगी स्टाइल में हो गया और नेहा ने उसके नीचे से उसका लंड अपने मुहं में डाल दिया और चूसने लगी और में ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर उसकी गांड मारने लगा। तभी राज ने अपना पानी नेहा के मुहं में निकाल दिया और वो कुछ देर मेरे साथ मज़े लेकर उठकर बाथरूम में चला गया और फिर मैंने उसके जाते ही नेहा को अपनी बाहों में ले लिया और में उसके नरम, गुलाबी, रसभरे होंठो को अपने मुहं में लेकर चूसने लगा और उनके मज़े लेने लगा उसके बाद मैंने नेहा के पूरे बदन और उसके कंधो पर किस किया और उसके गालों को अपने होंठो में लेकर चूसने लगा। फिर कुछ ही देर में अब वो पूरी तरह से कामुक हो चुकी थी और उसके मुहं से आवाज़ निकल रही थी उफ्फ्फ्फ़ आह्ह्ह्हह्ह वाह मुझे बहुत मज़ा आ रहा है और ज़ोर से चूस। आज मेरे पूरे बदन को मसल दो। अब में भी पूरे जोश में आ गया और में उसके पूरे बदन को मसलने लगा और वो बोल रही था उहह्ह्ह आईईईइ क्या मस्त मज़ा आ रहा है और मज़ा लो। अब मैंने उसको नीचे लेटाकर अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया और फिर में उसको ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा। वो बोल रही थी और ज़ोर से आऊऊऊउ आह्ह्हह्ह हाँ थोड़ा और ज़ोर से धक्के दो, इसको पूरा अंदर तक जाने दो।

READ  चुदक्कड़ दीदी को टॉप की रांड बनाया

फिर में भी अब लगातार ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर उसकी चुदाई कर रहा था और मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था। फिर कुछ देर बाद वो मुझे नीचे लेटाकर मेरे ऊपर चड़ गयी और उसने मेरा लंड अपनी चूत में डाल लिया और वो अब ज़ोर ज़ोर से ऊपर नीचे होने लगी। में उसकी चुदाई के मज़े लेता रहा, लेकिन थोड़ी देर ऊपर नीचे होने के बाद वो अब झड़ गयी और उसकी चूत का पानी उसकी चूत से बाहर निकलकर बहने लगा और फिर वो नीचे उतर गयी। फिर मैंने उससे कहा कि आपने मुझे तो अधूरा ही छोड़ दिया और इतना सुनकर वो नीचे झुकी और मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर अंदर बाहर करने लगी और में उसके सर को पकड़कर उसके मुहं की चुदाई ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर करने लगा। फिर थोड़ी देर बाद मैंने भी अपना पानी उसके मुहं में निकाल दिया, जिसको नेहा ने चाटकर चूसकर पूरा नीचे गटक लिया और मेरे लंड को चमका दिया। अब में उठकर बाथरूम में चला गया और मैंने अपने लंड को पानी से धोकर साफ किया अपने कपड़े पहने और में उसके बाद अपने घर आ गया ।।

धन्यवाद …

Updated: January 5, 2017 — 8:44 am
Antarvasna Hindi Sex Stories © 2016