गुजराती भाभी की चुदाई की चाहत

हैल्लो दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम विक्की Kamukta है और में गुजरात के सूरत शहर का रहने वाला हूँ। मेरी उम्र 30 साल मेरी लम्बाई 5.11 है। दोस्तों एक दिन मेरे पास फेसबुक पर मैसेज आया और उसमे मुझसे कहा गया कि में उनसे बात करूं। तो मैंने जवाब दिया और उनको एक समय दे दिया। दोस्तों आप लोग विश्वास नहीं करोगे उसने मेरे इस जवाब के लिए पूरे पांच घंटे इंतजार किया था। में उसको मैसेज करके अपना कम्पूटर बंद ही कर रहा था कि उसी समय उसका मैसेज आ गया और उसी समय हमने बात करना शुरू किया। एक दूसरे से पहली बार मिले। तो मैंने उससे पूछा कि आप कौन हो? तब उसने बताया कि में एक 24 साल की शादीशुदा एक औरत हूँ। और तुमसे मिलकर तुम्हारे साथ मज़े मस्ती करना चाहती हूँ, तो मैंने जानबूझ कर नासमझ बनकर उससे कहा कि मज़े से आपका मतलब क्या है? अब उसने कहा कि तुम बड़े तेज हो, पहली ही मुलाकात में मेरी सारी शरम तुमने निकाल दी, ठीक है लो अब सुनो में तुमसे मिलकर तुम्हारे साथ सेक्स करके मज़े लेना चाहती हूँ और मुझे तुमसे अपनी चुदाई के मज़े लेने है। फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है, तुम मुझे यह बताओ कि हमें मिलना कहाँ है? तब उसने कहा कि वो जगह तुम ही बताओ? मैंने कहा कि वो सब छोड़ो पहले तुम मुझे तुम्हारा नाम और तुम रहती कहाँ हो वो सब बताओ? तो उसने कहा कि मेरा नाम पायल है और में गुजरात की रहने वाली हूँ।

फिर मैंने उससे पूछा कि आपके घर में कौन कौन है? तब उसने कहा कि में और मेरे पति, मैंने उससे कहा तो फिर क्या समस्या है, हम तुम्हारे घर पर ही मिलते है, बाहर मिलकर क्यों हम किसी मुसीबत में पड़े। फिर उसने कहा कि नहीं मुझे बहुत डर लगता है, हमें मेरे घर में नहीं मिलना चाहिए, अब मैंने उससे कहा कि हाँ ठीक है अब तुम ही बता दो कि हमें कहाँ मिलना चाहिए? तब उसने कहा कि हमें बाहर किसी होटल में मिलकर यह काम करना चाहिए। अब मैंने उससे कहा कि देखो मेरे हिसाब से तो होटल से घर ज़्यादा सुरक्षित जगह रहती है और करीब दो मिनट कुछ सोचने के बाद उसने कहा कि हाँ ठीक अगले शुक्रवार के दिन मेरे पति उनके किसी काम से बाहर जाने वाले है और उसने मुझे अपना फोन नंबर देकर मेरा नंबर लेकर कहा कि में तुम्हे फोन करके आने के लिए समय बता दूंगी। फिर मैंने कहा कि हाँ ठीक है और उसने मुझे धन्यवाद कहा और वो उसके बाद अपने काम करने लगी। मुझसे उसने बात करना बंद कर दिया और फिर शुक्रवार को उसने मुझे फोन किया, उसकी आवाज बहुत ही सुरीली थी। उसकी बात करने का अंदाज भी बड़ा सेक्सी था। फिर उसने कहा कि आज मेरे पति करीब दोपहर के समय 12 बजे बाहर जाने वाले है, इसलिए तुम ठीक एक बजे मेरे घर आ जाओ और इतना कहकर उसने मुझे अपने घर का पता भी दे दिया।

दोस्तों में उसके दिए हुए एकदम ठीक समय पर उसके घर पर पहुंच गया और फिर मैंने घर के दरवाजे पर लगी घंटी को बजा दिया। तो उसने दरवाजा खोला में तो उसको बस देखता ही रह गया वाह क्या मस्त द्रश्य था उसकी लम्बाई करीब 5.10 इंच भरा हुआ बदन एकदम गोरा रंग और दिखने में तो वो एकदम सेक्स बम लग रही थी में तो बस उसको देखता ही रह गया, उसने पूछा आप कौन? मैंने कहा कि पायल ही है ना, उसने हाँ मे अपना सर हिला दिया तब मैंने उससे कहा कि मेरा नाम विक्की है। अब उसने मेरा मुस्कुराते हुए स्वागत किया और फिर हम दोनों अंदर चले गये और उसने दरवाजे को अंदर से बंद कर दिया। तब मैंने देखा कि उसका घर बहुत संदर था और उसने मुझे बैठक वाले रूम में बैठने को कहा और फिर वो मेरे लिए पानी लेने किचन में चली गई।

READ  मेरी बहन के जवान लड़के ने चूत

दोस्तों उसने अपनी साड़ी को नाभि के नीचे से बांध रखी थी और जब वो चल रही थी तो उसकी कमर का हिस्सा पूरा खुला बिना कपड़ो के होने की वजह से वो क्या मस्त कयामत ढा रही थी। फिर वो मेरे लिए पानी लेकर आ गई और उसने मुझसे पूछा कि घर ढूँढने में आपको कोई परेशानी तो नहीं हुई? मैंने कहा कि जान में इसी शहर में रहता हूँ मुझे क्या परेशानी होनी थी? फिर उसने कहा कि चलो ठीक है अब यह बताओ कि तुम अब क्या पियोगे चाय कॉफी या कुछ ठंडा? मैंने कहा कि जान आज में तुमको पीने के मूड में हूँ। तो उसने मेरी बात को सुनकर एक मीठी सी मुस्कान के साथ अपनी आखों को बंद किया और अपने नरम गुलाबी होंठो को आगे किया और कहा कि लो जान पी लो यह बहुत गरम है।

फिर मैंने उससे पूछा क्या सही में तुम सच कह रही हो और अब हम दोनों फ्रेंच किस करने लगे, में अपने एक हाथ से उसके बालो, गर्दन और कमर को सहलाने लगा और अपने दूसरे हाथ से उसकी जांघो को भी सहलाने लगा और हमारे होंठ और जीभ एक दूसरे में समा गए। फिर उसको कुछ देर किस करने के बाद उसने मुझसे कहा कि अब इसके आगे का काम यहाँ नहीं, बेडरूम में चलो, मैंने उससे कहा कि हाँ ठीक है, चलो मेरी जान और फिर वो मुझे उसके बेडरूम में ले गई और वो मेरे आगे आगे चल रही थी और में उसके पीछे उसके बेडरूम में जाकर मैंने तुरंत ही उसको पीछे से पकड़कर अपनी बाहों में जकड़ लिया और अब में उसके बूब्स को दबाने लगा साथ ही उसकी गर्दन और कंधो पर किस करने लगा धीरे से उसके कान पर हल्का सा चूमा काट भी लिया जिसकी वजह से तो वो एकदम तिलमिला गई।

दोस्तों मुझे उसको ऐसे जोश में लाकर तड़पाने में बड़ा मज़ा आ रहा था, लेकिन तभी तुरंत ही घूमकर वो मेरी छाती से कसकर लिपट गई उसने मुझे इतना कसकर पकड़ा कि उसके मुलायम बूब्स मेरी छाती से दबकर मुझे अंदर ही अंदर बहुत मस्त जोश भरा अहसास दे गया। अब में उससे चिपके हुए ही उसकी गोरी चिकनी कमर और बड़े आकार के कूल्हों को अपने दोनों हाथों से सहला रहा था और वो मुझे कसकर पकड़े खड़ी रही कुछ देर बाद मैंने उसका चेहरा जो मेरी छाती में उसने शरम से छुपा लिए था। उसको एक हाथ से उठाकर ऊपर किया और उसकी नजर तब भी शरम से नीचे झुकी हुई थी और फिर मैंने अपने होंठो को उसके गुलाबी होंठो से चिपकाकर चूमना शुरू किया। फिर कुछ देर बाद उसने भी मेरा साथ देना शुरू किया और हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे। अब मैंने उसके बूब्स को सहलाते सहलाते हुए उसकी साड़ी को उतार दिया और अब में ब्लाउज के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा था। वो जोश में आकर आअहहहह ऊफ्फ्फ्फ़ करने लगी और उसी समय मैंने अपने एक हाथ को उसके पेटीकोट के ऊपर से ही उसकी चूत पर रख दिया। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मुझे महसूस हुआ कि उसकी चूत तो पहले से ही गीली हो चुकी थी। मैंने उसकी चूत को थोड़ा सा सहला दिया। फिर कुछ देर बाद मैंने उसके ब्लाउज और पेटीकोट को उतार दिया और वो अब मेरे सामने बस काले रंग की ब्रा और पेंटी में खड़ी उसके खुले रेशमी बाल और गोरा बंद उस काले रंग की ब्रा, पेंटी में ऐसा लग रहा था कि वो जैसे कोई मारबल की मूर्ति हो, दोस्तों वो किसी फिल्म में कहा है ना कि यह वो बूत है जिसके सामने एक सिपाही भी अपनी तलवार, एक शहनशाह अपना ताज और एक शायर अपना दिल निकालकर रख दे, वो वैसी ही वो एकदम कमाल की लग रही थी। दोस्तों पायल को मैंने उसके सर से लेकर पैर तक उसके शरीर के हर एक हिस्से को चूमा, लेकिन वो मेरे हर एक किस पर सिसक जाती। फिर वो मुझसे कहने लगी कि प्लीज मुझे तुम अब और मत तड़पाओ जान, अब मुझसे ज्यादा देर सब्र नहीं होता। फिर इतना कहकर उसने मेरे सारे कपड़े फटाफट उतार दिए और मेरे बदन को अपने मुलायम हाथों से सहलाकर वो मेरे लंड को अपने एक हाथ से पकड़कर उसको भी धीरे धीरे सहलाने लगी थी, लेकिन दोस्तों में उसके यह सब इतनी अच्छी तरह से करने की वजह से बिल्कुल चकित हो चुका था, क्योंकि वो किसी अनुभवी रंडी की तरह अपना सारा काम अब कर रही थी, जिसकी मुझे उससे अब तक बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी।

READ  जयपुर की आंटी के साथ मस्ती

फिर कुछ देर ऐसा करने के बाद वो नीचे अपने घुटनों के बल बैठकर मेरे तनकर खड़े लंड को अपने मुहं में लेकर लोलीपोप की तरह चूसने लगी। उसके ऐसा करने से मुझे भी बड़ा मज़ा आ रहा था। दोस्तों उस समय मुझे ऐसा महसूस हो रहा था कि जैसे मुझे पूरी बोतल का नशा चड़ गया था। में धीरे धीरे उसके नशे में बिल्कुल मदहोश हुआ जा रहा था। में क्या बताऊँ कि मेरी उस समय लंड चूसने की वजह से क्या हालत हो रही थी? फिर मैंने उसको उठाया और अब हम दोनों बेड पर आ गये। फिर मैंने बिना देर किए उसकी ब्रा और पेंटी को उतार दिया और उसको नीचे लेटाकर मैंने उसको किस किया। फिर मैंने देखा कि उसके बूब्स तो क्या मस्त कायामत थे। में बूब्स को दबाने लगा और उसकी निप्पल को में अपने मुहं में लेकर चूसने लगा और जब में उसकी निप्पल पर अपनी जीभ को घूमा रहा था तब वो आअहह उफ्फ्फ चूसो और ज़ोर से दबाओ वाह मुझे बहुत मज़ा आ रहा है। दोस्तों में सच कहूँ तो वो इतनी गोरी थी कि जब मैंने उसके बूब्स को थोड़ा ज़ोर से दबाया तो वो एकदम लाल हो गए। फिर उसके बाद थोड़ा नीचे होकर मैंने उसकी नाभि में अपनी जीभ को घुमा दिया। तब जोश में आकर गुदगुदी होने की वजह से वो मेरे बालो को पकड़कर मुझे हटाने लगी।

फिर में उसकी नाभि का पीछा छोड़कर थोड़ा और नीचे आ गया और मैंने उसके दोनों पैरों को खोलकर उसकी चूत पर मैंने अपने होंठो को रख दिया और अब में उसकी चूत को चूमने लगा। फिर वो मुझसे कहने लगी कि तुम मुझे देखो कितना तड़पा रहे हो, प्लीज जल्दी से तुम इसको खा जाओ, मुझसे ज्यादा देर रुकना बड़ा मुश्किल है। अब में उसकी बिना बालों वाली चिकनी रसभरी चूत को बड़े मज़े लेकर चाटने चूसने लगा था और कुछ देर मेरी जीभ से ही चुदाई करने से वो एक बार झड़ गयी और उसकी चूत से पानी बाहर तक आकर बहने लगा था और उसकी वो जोश भरी चिल्लाने की आवाज़े सुनकर तो मुझे ऐसा लगा कि जैसे वो जिंदगी में पहली बार चुद रही हो, वो ऐसा नाटक कर रही थी। अब उसने मुझसे कहा कि तुमने तो मेरी चूत को चूसकर चाटकर ही इसका पानी निकालकर इसका जोश ठंडा करके ढीला कर दिया, तुम तो इन कामो को करने में बहुत अनुभवी हो, ऐसा मेरे साथ मेरे पति ने कभी नहीं किया। फिर मैंने उससे कहा कि मेरी जान तुम्हे बस ऐसे ही तो मज़े करने थे ना, बोलो तुम्हे आया कि नहीं मज़ा? तब उसने कहा कि हाँ मुझे बहुत मज़ा आया और फिर में उसका यह जवाब सुनकर एक साइड में लेट गया और मेरे लंड को थोड़ी देर चूसने के बाद वो अब मेरे लंड के ऊपर सवार हो गई।

READ  साली का ससुराल

फिर उसने धीरे धीरे दर्द को सहन करते हुए अपनी चूत में मेरे पूरे लंड को पूरा अंदर ले लिया और उसके बाद वो लंड के ऊपर आकार क्या मस्त धक्के लगा रही थी? वो लगातार मेरे खड़े लंड के ऊपर नीचे होकर लंड को अपनी चूत के अंदर बाहर कर रही थी। दोस्तों जब वो मेरा लंड को अपनी चूत में लिए आगे पीछे हो रही थी और ऊह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ आअहह कर रही थी। फिर उसके बूब्स जो उछल रहे थे उसको देखकर मेरा सेक्स जोश और भी बढ़ गया वो मेरी छाती को सहलाते हुए धक्के दे रही थी और साथ साथ वो मुझे किस भी कर रही थी और में उसके गोरे गोरे बूब्स को भी दबा रहा था। अब वो तो आअहह आआहह चोदो मुझे चोदो जान कर रही थी। दोस्तों मुझे बिल्कुल भी समझ में नहीं आ रहा था कि वो मुझे चोद रही है या में उसको चोद रहा हूँ। फिर वो ऐसे ही दो बार झड़ गई और बोली कि बस अब और नहीं। फिर मैंने कहा कि जान अभी तो तुम्हारा ही काम हुआ है? मेरा भी तो मन खुश करो मुझे भी तो मज़े दो। फिर वो साइड में सो गई और में उसके ऊपर चड़ गया और उसकी लाल लाल चूत में लंड डालकर उसको तेज तेज धक्के देकर चोदने लगा और थोड़ी ही देर में मेरा वीर्य भी अब निकलने वाला था।

फिर मैंने कहा कि अब में झड़ने वाला हूँ इसको कहाँ निकालूं? तब उसने कहा कि कोई बात नहीं है तुम इसको मेरे अंदर ही निकाल दो, में पहले से ही एक गर्भनिरोधक गोली ले चुकी हूँ और अब में उसके मुहं से यह बात सुनकर खुश होकर उसको ज़ोर ज़ोर से धक्के देते हुए चोदते चोदते उसकी चूत में ही झड़ गया और मेरे वीर्य से उसकी चूत एकदम चिकनी हो गई और फिर हम दोनों शांत होकर बेड पर लेट गये और एक दूसरे से चिपककर वैसे ही कुछ देर पड़े रहे। फिर मैंने उससे पूछा कि जान तुम क्या अपने पति के साथ उसकी चुदाई से संतुष्ट नहीं हो क्या? तो उसने कहा कि में अपने पति से बहुत संतुष्ट हूँ, अब मैंने उससे पूछा कि फिर तुम मेरे साथ यह सब मज़े क्यों करना चाहती थी? अब उसने कहा कि हर रोज एक ही तरीके के सेक्स से में बोर हो गई थी तो इसलिए मैंने सोचा कि में कुछ अलग हटकर सेक्स के मज़े करूं।

फिर मैंने उससे पूछा तो मेरे साथ यह सब करके तुम्हारा अनुभव कैसा रहा? तो वो बोली कि में तुम्हारे साथ आज यह सब करके बहुत खुश हूँ मुझे बड़ा मस्त मज़ा आया तुमने मुझे पूरी तरह से संतुष्ट करके बड़ा खुश कर दिया है। फिर मैंने हंसकर उससे कहा कि जिसको जो चाहिए होता है एक दिन ऊपर वाले की क्रपा से वो मिल ही जाता है, में भी तुम्हारे साथ यह मज़े लेकर बहुत खुश हूँ और तुम्हारा जोश देखकर में पहली बार में बड़ा चकित हुआ, तुम्हे इस काम में बहुत कुछ आता है तुम तो एक खिलाड़ी हो। फिर बोली कि लेकिन मेरा तुम्हारे साथ एक बार यह सब करके मन नहीं भरा, में दोबारा भी करना चाहती हूँ। अब मैंने उससे कहा कि जान जो तुम्हारी मर्ज़ी उसके बाद हम दोनों बाथरूम में जाकर फ्रेश हुए और फिर में कपड़े पहनकर उसको किस करके वापस चला आया और फिर हम एक दूसरे को भूल गये, लेकिन फिर कभी उसने मुझसे बात नहीं की और ना ही मैंने भी आगे बढ़ने के बारे में सोचा ।।

धन्यवाद …

Antarvasna Hindi Sex Stories © 2016