ऑफीस वाली मेडम की गुलाबी चूत

हैल्लो दोस्तों, antarvasna मैं अमित आप सभी खुबसुरत जवान चूत वाली रानियों की चूत को चाटते हुए सभी का मैं कामलीला डॉट कॉम पर स्वागत करता हूँ मुझे यकीन है की मेरी सेक्सी कहानी पढ़कर सभी लड़को के लंड खड़े हो जायेंगे और सभी चूत वालियों की गुलाबी चूत अपना रस जरुर छोड़ देगी। आज आपके लिए मैं अपनी ऑफीस की मेडम की चुदाई की गरमा गरम कहानी लेकर आया हूँ, ये मेरी पहली सच्ची सेक्स कहानी है और मुझे उम्मीद है की आपको मेरी ये कहानी जरुर पसंद आएगी तो चलिए अब मैं बिना देर करते हुए सीधा आप सबको कहानी सुनाता हूँ।

दोस्तों बात उन दिनों की है जब मैं अपने कॉलेज की ट्रेनिंग के लिए एक कंपनी में गया था उस समय मेरी उम्र 24 साल थी और मैं बहुत ही हैंडसम था मैं रोज़ जिम जाता था इसलिए मेरा शरीर काफ़ी अच्छा फिट बना हुआ था। मेरे घर में, मैं और मेरे मम्मी पापा ही रहते है मैं अपने घर वालो की एकलौती ओलाद हूँ। और मेरे पापा का खुद का कारोबार है इसलिए मैं कॉलेज से ही कार में आता जाता हूँ मैं अपने ऑफीस में भी कार में ही आता था वहाँ पर एक मेडम लगी हुई थी जिसे देखते ही मेरा दिल उस पर आ गया था उसका नाम था संजना, उसकी हाइट 5.2 इंच होगी, पर उसका फिगर बहुत ही कमाल था उसका फिगर कुछ ऐसा था 34-32-36, क्या कमाल के बूब्स और गांड थी उसकी, उसको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था और उसके मोटे मोटे बूब्स का मैं बहुत ही दीवाना था जब भी मैं उसके बूब्स को देखता था तो मेरा दिल करता था की अभी के अभी साली के बूब्स की चूस चूसकर खा जाऊ। दोस्तों मैंने एक चीज़ नोट की थी वो हर रोज ऑफीस में लेट ही आती थी वो तो शुक्र है की हमारे बोस लेट आते थे वरना उसकी तो रोज ही क्लास लग जाती, एक दिन मैं अपने ऑफीस जा रहा था जिस रोड से मैं जाता हूँ उस रोड पर काफ़ी ट्राफिक था इसलिए मैं घूमकर दुसरे रास्ते से जा रहा था और उसी रास्ते में मुझे संजना मेडम दिखी और बस आने का इंतजार कर रही थी मैंने उससे लिफ्ट के लिए पूछा तो वो झट से भागती हुई मेरी कार में बैठ गई जब वो भागती हुई आ रही थी तो उसके बूब्स हिलते हुए बहुत ही सेक्सी लग रहे थे उसके बूब्स को देखकर मेरा लंड झट से खड़ा हो गया, उसने टाइट टॉप और जीन्स डाली हुई थी जिसकी वजह से वो और भी कयामत लग रही थी उसने मुझे ऑफीस से जाते हुए कहा की अगर तुम बुरा ना मानो तो क्या कल से तुम मुझे रोज़ ऑफिस के लिये छोड़ सकते हो, तो मैंने झट से हाँ कह दिया और उसे फिर छोड़ भी दिया। अब मेरा ये रोज का काम हो गया था मैं उसे रोज़ अपनी कार में बिठाकर ले जाता और उसके घर पर छोड़ देता इससे हम दोनों में अच्छी दोस्ती होने लग गई जो मैं चाहता था मुझे अब लग रहा था की अब इस साली को मैं पक्का चोदकर ही रहूँगा। ऐसे ही काफ़ी दिन निकल गये एक दिन शनिवार की शाम को जब मैं उसे कार में बिठाकर ले जा रहा था तो मैंने उससे पूछ लिया की अगर आप बुरा ना मानो तो क्या हम दोनों कल मूवी देखने चले उसने कुछ देर सोचा और मुझे फिर उसने हाँ कह दिया।

READ  जन्मदिन पर मिला अनोखा गिफ्ट

मैं बहुत खुश हो गया की अब तो मैं कल पक्का ही इस साली को चोदकर ही मानूंगा, अगले दिन जब मैं उसके साथ बैठकर मूवी देख रहा था तो मैंने मौका देखकर उसे किस कर दिया उसने मुझे झट से पीछे कर दिया और चुप हो गई वो मुझसे अगले 2 दिन तक नहीं बोली मैं डर गया साली ये तो हाथ से निकल गई मुझे अपने आप पर बहुत ग़ुस्सा आ रहा था क्यूंकि मैंने कुछ ज़्यादा ही जल्दी कर दी थी। मैंने उसे एक बहुत ही दर्द भरा सॉरी वाला मेसेज किया और रात को उसका मेसेज आया की तुम भी एक नंबर के बेवकूफ़ हो, तुमने सिर्फ़ ही मुझे किस किया आगे क्या तुम्हारा बाप करेगा। अब ऐसा करना कल मैं घर पर ही हूँ तुम ऑफीस से हाफडे में आ जाना मैं उसका मेसेज पढ़कर खुशी से झूम उठा उस रात मैं उसके सपनो में ही खोया रहा फिर अगले दिन मैं 1 बजे ऑफीस से निकल लिया और सीधा संजना के घर पर आ गया जैसे ही उसने दरवाजा खोला उसे देखकर मेरे होश उड़ गये उसने पिंक कलर की साड़ी पहनी हुई थी जिसे देखते ही मैं पागल सा हो उठा और मेरा लंड खड़ा हो गया उसने मुझे अंदर लिया और सोफे पर बिठा दिया जब उसने मुझे चाय दी तो नीचे झुकते हुए उसका पल्लू नीचे गिर गया। और मेरे सामने उसके खूबसूरत मोटे मोटे बूब्स आ गये उसके बाद मैं अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर पाया और मैं उठा और उसे पकड़कर अपनी बाँहों में ले लिया था उसने मुझे कुछ नहीं कहा फिर मैंने उसके होंठो को अपने होंठो में भर लिया और ज़ोर ज़ोर से उसके दोनों होंठो का रस अपने होंठो से पीने लग गया सच में मुझे इसमें बहुत ही मज़ा आ रहा था फिर मैंने उसको गोद में उठाया और बेडरूम में ले गया वहां जाते ही मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए और सबसे पहले मैंने उसके दोनों बूब्स को अपने दोनों हाथो में लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गया। अब संजना भी गरम होनी लग गई थी दोनों बूब्स को मैंने बहुत ही बुरे तरीके से चूसा और उसके दोनों बूब्स को चूस चूसकर लाल कर दिया। दोनों बूब्स को चूसने के बाद मैं सीधा उसकी चूत पर गया और उसकी दोनों टाँगे खोलकर उसकी चूत को देखने लग गया उसकी चूत में से पहले से ही पानी बाहर आ रहा था जिसकी खुशबु ने मुझे मदहोश कर दिया और मैं अपने आप ही उसकी चूत को चूसने लग गया उसकी चूत का पानी बहुत ही नमकीन था पर थोड़ी ही देर बाद उसकी चूत में से मीठा पानी भी आने लग गया चूत बहुत ही गरम होने लग गई थी अचानक ही संजना ने मेरा सिर पकड़कर अपनी चूत पर दबा दिया और जोश ही जोश में मेरे मुहँ पर बहुत सारा पानी निकाल दिया मैंने उसकी चूत को अच्छे से चाट चाटकर साफ कर दिया फिर उसके बाद वो शांत हुई और मैं अब उसकी चूत को फाड़ने के लिए तैयार था मैंने जैसे ही अपने सारे कपड़े निकाले तो वो मेरा लंड देखकर खुश हो गई और बोली अगर तुम बुरा ना मानो तो क्या मैं तुम्हारे लंड को चूस सकती हूँ मैंने भी झट से हाँ कह दिया और फिर वो उछलकर खड़ी हो गई और नीचे बैठकर मेरा लंड चूसने लग गई बहुत ही अच्छे से संजना मेरा लंड चूस रही थी मानो वो मेरे लंड में से जूस निकाल रही हो, 10 मिनट बाद लंड पूरा चिकना हो चुका था इसलिए मैंने अपना लंड उसके मुहँ से बाहर निकाल दिया और फिर उसकी चूत पर अपना लंड सेट करके उसकी चूत मारने के लिए तैयार हो गया। डर के मारे उसकी चूत कांप रही थी फिर मैं उसके ऊपर आ गया और उसके होंठो को चूसने लग गया और जब उसका ध्यान किस में था तभी मैंने एक जोरदार धक्के से उसकी चूत में अपना पूरा लंड घुसा दिया वो एकदम कांप उठी और जोर से चिल्लाई और उसकी आँखो में से पानी बाहर आने लग गया अब मुझे पता था की उसको दर्द हो रहा है इसलिए मैं उसे किस करता रहा और फिर 5-7 मिनट बाद वो खुद ही मुझसे चुदने लग गई। दोस्तों यह सेक्स स्टोरी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

READ  चोर ने चोरी के साथ करी पूरी मेरी अधूरी 1

मेरा लंड मेडम की चूत में धमाल मचाये हुए था और मेडम अपनी गांड को ऊपर उठा उठाकर मुझसे चुदवा रही थी मेडम भी अब फुल मूड में थी जबरदस्त तरीके से वो मेरा लंड अपनी चूत में ले रही थी और मैं भी मेडम की चूत को जोर जोर से धक्के लगाकर चोद रहा था और फिर कुछ ही देर में हम दोनों साथ में ही झड़ गये और मैंने अपना गाडा माल मेडम की चूत में ही छोड़ दिया और मेरा लंड सिकुडकर छोटा सा हो गया और मैंने उसे उस दिन 3 बार जमकर चोदा और उसकी पूरी चूत को सूजा दिया था। दोस्तों ये थी मेरी संजना के साथ पहली चुदाई उसके बाद भी मैं आज भी उसकी चूत को अच्छे से चोदता हूँ अगर आपको मेरी कहानी अच्छी लगी हो तो प्लीज़ इस कहानी को लाइक और शेयर करना ना भूले।

धन्यवाद कामलीला डॉट कॉम के प्यारे पाठकों !!

Antarvasna Hindi Sex Stories © 2016